Bhule Aur Bhatke Hain Ham

Bhule Aur Bhatke Hain Ham

भूले और भटके हैं हम
जाएँ तो जाएँ कहाँ 
कोई तो ले चल हमें
यीशु मसीह है जहाँ -2
दुनियां की चिंता को छोड़
आगे को बढ़ता ही चल
कितने ही आएंगे मोड़
घबरा न बढ़ता ही चल -2 
भूले और भटके हैं हम…
राही अगर सफ़र में
कर यीशु का विश्वास तू
पाएगा हर कदम पर
साया क्रूस ही का तू -2
भूले और भटके हैं हम…
आखिर को पहुंचेंगे
प्यारा मसीह है जहाँ
चिंता ना दुःख है ना ग़म
आनंद ही आनंद वहाँ -2 
भूले और भटके हैं हम…

Bhule Aur Bhatke Hain Ham

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added