Popular

Main Masihi Hun | Masih Mere Sath Hai | Amir Riaz

Main Masihi Hun

मसीह मेरे साथ है, मसीह मेरे अन्दर है -2 
मसीह को मैं पहने हूँ, मसीह मेरी रूह में है 
मसीह मेरे साथ है, मसीह मेरे अन्दर है
मैं मसीही हूँ -3 मसीह मेरे साथ है 
मसीह मेरे अन्दर है
जब तक जिऊंगा, यीशु ही कहूँगा -2 
ज़िन्दगी का ताज़ मैं, यीशु ही से लूँगा 
ताज़ उससे पाऊंगा, रूह में बढ़ता जाऊँगा 
मसीह की खुशखबरी से मैं 
सारे जग को महकाऊँगा 
मसीह मेरे साथ है, मसीह मेरे अन्दर है
मैं मसीही हूँ -3 मसीह मेरे साथ है 
मसीह मेरे अन्दर है
फ़रिश्तों की बारात ले के, यीशु राजा आएगा -2 
अपने साथ बादलों पे, हमको ले के जाएगा 
साथ उसके जाऊँगा, नया जीवन मैं पाऊंगा 
किताब-ए-हयात में मैं, नाम अपना लिखाऊँगा 
मसीह मेरे साथ है, मसीह मेरे अन्दर है
मैं मसीही हूँ -3 मसीह मेरे साथ है 
मसीह मेरे अन्दर है
राहत ही राहत, आराम ही आराम है -2 
नए शहर में सदिकों का, ऊँचा मकाम है 
मुक़ाम मैं पाऊंगा, उसके फज़ल से जाऊँगा 
मुक़द्दस लोगों में मैं, जश्न-ए-फ़तह मनाऊंगा 
मसीह मेरे साथ है, मसीह मेरे अन्दर है
मैं मसीही हूँ -6

Main Masihi Hun | Amir Riaz

Worshiper: Evg. Amir Riaz

Lyrics and Composition: Evg. Amir Riaz

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular

Recommended