10.5 C
Shimla
Friday, April 19, 2024

Ham Hain Prabhu Ka Swargiya Gharana | Lazar Sen

Ham Hain Prabhu Ka Swargiya Gharana

हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है -2 
कैसा सुन्दर है, प्रभु का घराना -2 
चारों दिशाओं से, बुलाया है -2 
एक देह बने हैं, नाता है लहू का -2 
चाहे हज़ारों, भाषा से है -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
एक नया मनुष्य, हमको बनाया -2
स्वर्गीय कुटुम्ब के तो, हम सब है -2
एक साथ मिलकर, गठकर रहते -2
ईश्वर का डेरा, हम बनते हैं -2
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
न कोई काला, गोरा, धनी है -2 
और न गरीब, कोई बड़ा भी है -2 
न कोई छोटा, अनपढ़ और ज्ञानी -2 
यीशु प्रभु ही तो सब कुछ है -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
प्रभु का घराना, उसमें न झगड़ा -2 
न कोई ईर्ष्या, कपट भी है -2 
शांति, आनंद और सच्चा प्रेम उसमें -2 
प्रभु ही उनको चलाता है -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
प्रभु का घराना, इस जग में है -2
सेवक को अधिकार सौंपा है -2
हरेक को उसका काम दिया है -2 
द्वारपाल हर घड़ी जागता है -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
मन में विश्वास और दृढ़ता, आशा है -2
यात्रा में जयवन्त उत्साही हैं -2 
जग के लिए हम, आदर्श बने हैं -2
शत्रु की हार पूरी, इसी में है -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है
वो दिन निकट है, प्रीतम आएगा -2 
जागते रहो! उसने कहा है -2 
सच्चा, विश्वासयोग्य बनके रहते -2 
धीरज से बाट उसकी जोहते हैं -2 
हम हैं प्रभु का, स्वर्गीय घराना
जिस में प्रभु, खुद ही रहता है

Ham Hain Prabhu Ka Swargiya Gharana | Lazar Sen

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss