11.6 C
Shimla
Friday, April 19, 2024

Kaffara Mera Tu Hi Hai | Arif Bhatti

Kaffara Mera Tu Hi Hai Lyrics

कफ्फ़ारा मेरा तू ही है
सहारा मेरा तू ही है -2 
मैं तेरी राहों पर, 
चलता रहूँ मेरे खुदा -2 
मेरे खुदा, मेरे खुदा -4
फ़िदीया मेरे पापों का तू, 
छुपने की तू ही जगह -2 
राहों की तू, है रोशनी
रूह जान बदन की शिफ़ा -2 
मसह से मुझे भर दे तू, 
लहू से मुझे धो दे तू -2 
मैं तेरी राहों पर...
तेरे सिवा कोई नहीं, 
जख्मों को जो भर सके -2 
अपने परों में तू छिपा, 
बाहों में ले ले मुझे -2 
तसल्ली तेरी बातों में, 
तेरे ही छिदे हाथों में -2 
मैं तेरी राहों पर...
Kaffara Mera Tu Hi Hai
Sahara Mera Tu Hi Hai -2 
Main Teri Rahon Par Chalta Rahun 
Mere Khuda -2 
Mere Khuda, Mere Khuda -4 
Fidiya Mere Papon Ka Tu 
Chhupne Ki Tu Hi Jagah -2 
Raahon Ki Tu Hai Roshni 
Ruh Jaan Badan Ki Shifa -2 
Masah Se Mujhe Bhar De Tu 
Lahu Se Mujhe Dho De Tu -2 
Main Teri Rahon Par...
Tere Siva Koi Nahin 
Jakhmon Ko Jo Bhar Sake -2 
Apne Paron Me Tu Chhipa 
Baahon Me Le Le Mujhe -2 
Tasalli Teri Baaton Me 
Tere Hi Chhide Haathon Me -2 
Main Teri Rahon Par...

Kaffara Mera Tu Hi Hai | Arif Bhatti

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss