9.1 C
Shimla
Tuesday, April 16, 2024

Khet Pak Chuke Hain

Khet Pak Chuke Hain Lyrics

खेत पक चुके हैं
फसल है तैयार -2 
कटनी का समय है 
आनंद का ये उत्सव है -2 
होना है दुनियां के छोर तक 
यीशु का सुसमाचार 
खेत पक चुके हैं...
जिसने जितना बोया 
उसने उतना पाया -2 
जिसने जैसा बोया 
उसने वैसा पाया -2 
आंसू बहाते हुए जो 
यीशु वचन को बोया -2 
आत्मा की फसलें काट कर 
गाएगा वो जय जयकार 
खेत पक चुके हैं...
भटकी हुई भेड़ों का 
यीशु ही सच्चा चरवाहा -2 
बेबस लाचारों का 
यीशु ही सच्चा सहारा -2 
यीशु मसीह की है आज्ञा 
सन्देश सबको सुनाओ -2 
भूखी प्यासी है ये दुनियां 
भूखा है ये संसार 
खेत पक चुके हैं...
Khet Pak Chuke Hain
Fasal Hai Taiyar -2
Katni Ka Samay Hai
Anand Ka Ye Utsav Hai -2 
Hona Hai Duniyan Ke Chhor Tak
Yeshu Ka Susamachar 
Khet Pak Chuke Hain...
Jisne Jitna Boya
Usne Utna Paya -2
Jisne Jaisa Boya 
Usne Vaisa Paya -2 
Aansu Bahate Huye Jo
Yeshu Vachan Ko Boya -2 
Aatma Ki Faslen Kaat Kar
Gayega Wo Jai Jaikaar
Khet Pak Chuke Hain...
Bhatki Huyi Bhedon Ka
Yeshu Hi Sachcha Charwaha -2 
Bebas Lacharon Ka
Yeshu Hi Sachcha Sahara -2 
Yeshu Masih Ki Hai Aagya 
Sandesh Sabko Sunao -2
Bhukhi Pyasi Hai Ye Duniyan
Bhukha Hai Ye Sansaar 
Khet Pak Chuke Hain...

Khet Pak Chuke Hain Fasal Hai Taiyar

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss