+917832878330

24/7

Himachal (India)

Masiha Mujhe Pyaar Karna Sikha De

Share This Post

Masiha Mujhe Pyaar Karna Sikha De Lyrics

मसीहा मुझे प्यार करना सिखा दे
वफा में मुझे जीना मरना सिखा दे
मैं दुश्मन को अपने गले से लगाऊँ
मैं उसके हर एक जुल्म को भूल जाऊँ -2
मैं उसके हर एक जुल्म को भूल जाऊँ
मुझे तू दिलों में उतरना सिखा दे
वफा में मुझे जीना मरना सिखा दे -2
मेरे लब वफा ही के नगमात् गाएँ
दिलों में मोहब्बत की शम्में जलाएँ -2
दिलों में मोहब्बत की शम्में जलाएँ
मोहब्बत में जाँ से गुजरना सिखा दे
वफा में मुझे जीना मरना सिखा दे -2
अदावत कदूरत भी दिल से मिटाकर 
मुझे प्यार की ये खुशबू बनाकर -2
मुझे प्यार की ये खुशबू बनाकर
घरों बस्तियों में बिखरना सिखा दे 
वफा में मुझे जीना मरना सिखा दे -2
Masiha Mujhe Pyaar Karna Sikha De
Wafa Me Mujhe Jeena Marna Sikha De
Main Dushman Ko Apne Gale Se Lagaun
Main Uske Har Ek Zulm Ko Bhul Jaun -2
Main Uske Har Ek Zulm Ko Bhul Jaun 
Mujhe Tu Dilon Me Utarna Sikha De 
Wafa Me Mujhe Jeena Marna Sikha De -2 
Mere Lab Wafa Hi Ke Nagmaat Gaayen
Dilon Me Mohabbat Ki Shamme Jalayen -2
Dilon Me Mohabbat Ki Shamme Jalayen
Mohabbat Me Jaan Se Guzarna Sikha De 
Wafa Me Mujhe Jeena Marna Sikha De -2
Adawat Qadurat Bhi Dil Se Mitakar
Mujhe Pyaar Ki Ye Khushbu Banakar -2
Mujhe Pyaar Ki Ye Khushbu Banakar 
Gharon Bastiyon Me Bikharna Sikha De 
Wafa Me Mujhe Jeena Marna Sikha De -2

Masiha Mujhe Pyaar Karna Sikha De | Mehnaz

More From Mehnaz:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here