15.1 C
Shimla
Tuesday, April 16, 2024

Rooh Ki Barish Barsa Chahti Hai

Rooh Ki Barish Barsa Chahti Hai Lyrics

रूह की बारिश, बरसा चाहती है
खुदावंद की शिफा आती है -2
प्रेम की बरखा, बरसा चाहती है
खुदावंद की शिफा आती है -2
शिफा का मंबा यीशु मसीहा
छूने का उसको वक्त है ये -2 
अपने ईमान से, उसके लहू से
पापों से धुलने का वक्त है ये -2 
रूह की बारिश, बरसा चाहती है...
तेरे गुनाह चाहे हो किर्मिज़ी
बर्फ की मानिंद धो देगा वो -2 
पानी और रूह से देगा जन्म
झरनों सी जिंदगी दे देगा वो -2 
रूह की बारिश, बरसा चाहती है...
कोड़े भी खाए तेरे लिए
तेरे लिए ही वो सूली चढ़ा -2 
कुचला गया वो तेरे लिए
तेरी शिफा को, ये सब सहा -2 
रूह की बारिश, बरसा चाहती है...
उसपे नज़र कर, ले ले शिफा
अपने मसीहा से, ले ले शिफा -2 
उसकी सलीब से, ले ले शिफा
उसके लहू से, ले ले शिफा -2 
रूह की बारिश, बरसा चाहती है...
Rooh Ki Barish, Barsa Chahti Hai 
Khudawand Ki Shifa Aati Hai -2 
Prem Ki Barkha, Barsa Chahti Hai 
Khudawand Ki Shifa Aati Hai -2 
Shifa Ka Mamba Yeshu Masiha
Chhune Ka Usko Waqt Hai Ye -2 
Apne Imaan Se, Uske Lahu Se 
Paapon Se Dhulne Ka Waqt Hai Ye -2 
Rooh Ki Barish, Barsa Chahti Hai...
Tere Gunaah Chahe Ho Kirmizi 
Barf Ki Maanind Dho Dega Wo -2 
Paani Aur Rooh Se Dega Janam 
Jharno Si Zindagi De Dega Wo -2
Rooh Ki Barish, Barsa Chahti Hai... 
Kode Bhi Khaye Tere Liye 
Tere Liye Hi Wo Suli Chadha -2 
Kuchla Gaya Wo Tere Liye 
Teri Shifa Ko Ye Sab Saha -2 
Rooh Ki Barish, Barsa Chahti Hai...
Uspe Nazar Kar, Le Le Shifa 
Apne Masiha Se, Le Le Shifa -2 
Uski Salib Se, Le Le Shifa
Uske Lahu Se, Le Le Shifa -2 
Rooh Ki Barish, Barsa Chahti Hai...

Rooh Ki Barish Barsa Chahti Hai

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss