5.8 C
Shimla
Monday, February 26, 2024

Tu Sagar Hai Muaafi Ka

Tu Sagar Hai Muaafi Ka

तू सागर है, मुआफ़ी का 
तू दरिया है, मोहब्बत का 
जो आएगा, वो पाएगा 
शिफ़ा तुझसे, गुनाहों का -2
तू सागर है, मुआफ़ी का  
गुनाहों से दबे लोगो 
वो कहता है, थके लोगो -2 
कि आओ पास, तुम्हें दूंगा 
सुकूं दिल में, डरे लोगो 
अब उजड़े हर, चमन का तू 
बना मौसम, बहारों का 
जो आएगा, वो पाएगा 
शिफ़ा तुझसे, गुनाहों का -2
तू सागर है, मुआफ़ी का  
यूँ अब तुम जो, परेशां हो 
ऐ लोगो जो पशेमाँ हो -2 
छुड़ाया जब, मसीहा ने 
तो फिर तुम क्यों, गुरेज़ाँ हो 
मिलेगा हल उसी में तुमको 
अपने हर सवालों का 
जो आएगा, वो पाएगा 
शिफ़ा तुझसे, गुनाहों का -2
तू सागर है, मुआफ़ी का…  

Tu Sagar Hai Muaafi Ka

पशेमाँ के हिंदी अर्थ – शर्मिंदा, लज्जित, अफ़सोस करने वाला, पछताने वाला

गुरेज़ाँ के हिंदी अर्थ – अनिच्छुक, अलग रहने वाला, बचते हुए, भागता हुआ, भाग कर जाता हुआ, बचकर निकल जानेवाला, पास न आने वाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

lyricsa (hindi christian song lyrics)

क्या लिरिक्सा आपके लिए एक उपयोगी संसाधन है?

हम आपको बेहतर सेवाएँ देने के लिए प्रयासरत हैं, कृपया YouTube पर भी हमारा समर्थन करें...

Don't Miss