Popular

Masiha Ki Huzoori Hai | Faraz Nayyer

Masiha Ki Huzoori Hai

मसीहा की हुजूरी है 
यहाँ रूह की मामूरी है 
हर एक दिल और एक घुटना 
झुके अब बहुत ज़रूरी है 
मसीहा की हुजूरी है 
यहाँ रूह की मामूरी है 
Masiha Ki Huzoori Hai 
Yahan Rooh Ki Mamuri Hai 
Har Ik Dil Aur Har Ik Ghutna 
Jhuke Ab Bahut Zaruri Hai
Masiha Ki Huzoori Hai 
Yahan Rooh Ki Mamuri Hai 
जिस्म की आँखें बंद करो अब 
दिल की आँखों से देखो 
सबका शाफी सबका मसीहा 
यीशु खड़ा है सामने देखो 
हाथ फैला कर मांग लो उससे -2 
जान भी दे देता है देखो 
कुछ हासिल करने से पहले -2 
ईमान रखना जरुरी है 
मसीहा की हुजूरी है 
यहाँ रूह की मामूरी है 
Jism Ki Aankhen Band Karo Ab 
Dil Ki Aankhon Se Dekho 
Sabka Shaafi Sabka Masiha
Yeshu Khara Hai Samne Dekho
Hath Faila Kar Maang Lo Us Se -2
Jaan Bhi De Deta Hai Dekho 
Kuch Haasil Karne Se Pehle -2 
Imaan Rakhna Zaruri Hai
Masiha Ki Huzoori Hai 
Yahan Rooh Ki Mamuri Hai 
उसने कहा है, थके माँदों और 
बोझ से दबो मेरे पास आओ 
अब्दी ख़ुशी और अब्दी ज़िन्दगी 
चैन आराम भी मुफ्त में पाओ 
दिल में बसा लो अपने उसको -2 
दुनियां के खतरों से बचते जाओ 
उसकी रहमत और कुदरत की -2 
गवाही भी देना ज़रूरी है 
मसीहा की हुजूरी है 
यहाँ रूह की मामूरी है...
Usne Kaha Hai Thake Maandon Aur
Bojh Se Dabon Mere Paas Aao 
Abdi Khushi Aur Abdi Zindagi
Chain Aaraam Bhi Muft Me Paao 
Dil Me Basa Lo Apne Usko -2 
Duniyan Ke Khatron Se Bachte Jao 
Uski Rehmat Aur Kudrat Ki -2
Gawahi Bhi Dena Zaruri Hai
Masiha Ki Huzoori Hai 
Yahan Rooh Ki Mamuri Hai...

Masiha Ki Huzoori Hai

Singer : Faraz Nayyer

Lyrics/Composition : Samuel Nayyer

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular

Recommended