23.4 C
Shimla
Wednesday, July 6, 2022

Popular

Teri Prastish Se Dil Ko Sakoon Ho Raha Hai | Faraz Nayyer

Teri Prastish Se Dil Ko Sakoon Ho Raha Hai

तेरी प्रस्तिश से दिल को सकून हो रहा है 
तेरी अजमत का अब ये जुनूं हो रहा है 
दिल पाक रूह से अब भरपूर हो रहा है
Teri Prastish Se Dil Ko 
Sakoon Ho Raha Hai
Teri Azmat Ka Ab Ye 
Junoon Ho Raha Hai
Dil Paak Rooh Se Ab 
Bharpoor Ho Raha Hai
अंधेरों में भी अब नूर हो रहा है 
जमीं पे खुदा का जहूर हो रहा है 
ये ज़माना वो ही कोह - ए - तूर हो रहा है
Andheron Me Bhi Ab 
Noor Ho Raha Hai
Zameen Pe Khuda Ka 
Zahoor Ho Raha Hai 
Ye Nazara Wohi 
Koh e toor Ho Raha Hai
रूह के लिए जो रूहानी घिजा आ रही है 
मेरी जिंदगी में नई बहार आ रही है 
सन्ना हो सन्ना देखो शिफा आ रही है
Rooh K Liye Jo Roohani 
Ghiza Aa Rahi Hai
Meri Zindagi Me Nayi 
Bahaar Aa Rahi Hai
Sanaa Ho Sanaa Dekho 
Shifa Aa Rahi Hai
तेरी प्रस्तिश से दिल को सकून हो रहा है
तेरी अजमत का अब ये जुनूं हो रहा है
दिल पाक रूह से अब भरपूर हो रहा है
Teri Prastish Se Dil Ko 
Sakoon Ho Raha Hai
Teri Azmat Ka Ab Ye 
Junoon Ho Raha Hai
Dil Paak Rooh Se Ab 
Bharpoor Ho Raha hai

PRASTISH

Singer: Faraz Nayyer

Lyrics: Pancratius Francis

Composition: Samuel Nayyer

Music/Mix @FarazNayyer

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यदि आप हमारे इस कार्य में आर्थिक रीति से सहयोग देना चाहते हैं तो आप हमसे [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। या UPI द्वारा [email protected] पर अपनी योगदान राशि भेज सकते हैं।

Popular

Don't Miss