21.6 C
Shimla
Thursday, July 7, 2022

Popular

Ajnabi Hota Nahin Koi Bhi Masih Ke Liye

Ajnabi Hota Nahin Koi Bhi Masih Ke Liye

अजनबी होता नहीं, कोई भी मसीह के लिए -2
प्यासा हर कोई है उसकी, बस एक नज़र के लिए
अजनबी होता नहीं
करके घायल अकेले मुझे, ये किसी ने छोड़ दिया
उसने आकर के उठाया और घाव दूर किए 
अजनबी होता नहीं, कोई भी मसीह के लिए
अजनबी होता नहीं
दर्द अपनों ने दिया तो, अब उनसे क्या कहना 
अब मसीह मिल गया मुझे यार, हर बशर के लिए
अजनबी होता नहीं, कोई भी मसीह के लिए
अजनबी होता नहीं
अपने अश्कों को भी मैंने, यूं बहते देखा है
अब मसीह बन गया हमसफर, हर एक पल के लिए
अजनबी होता नहीं, कोई भी मसीह के लिए
अजनबी होता नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यदि आप हमारे इस कार्य में आर्थिक रीति से सहयोग देना चाहते हैं तो आप हमसे [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। या UPI द्वारा [email protected] पर अपनी योगदान राशि भेज सकते हैं।

Popular

Don't Miss