Hamara Khudawand To Zinda Khudawand Hai

Hamara Khudawand To Zinda Khudawand Hai

मांगोगे जो भी मिल जाएगा 
ढूंढोगे जो भी तुम पाओगे 
खटखटाओगे जो दरवाजा 
खोला तुम्हारे लिए जाएगा  
फिर तुम रखो ईमान 
खुदावंद खुदा पे -2 
बाकी तो सब मिट जाएगा -2 
हमारा खुदावंद तो जिंदा खुदावंद है 
उसकी परस्तिश करो 
वो बादशाहों का बादशाह है 
उसकी परस्तिश करो -2 
वो जो लंगड़ों को फिर से चलाता है 
वही मुर्दों को जिंदा बनाता है -2 
उसकी सुनती हैं आंधी, हवाएं भी 
वो जो पानी पे चल कर आता है -2 
हमारा खुदावंद तो जिंदा खुदावंद है 
उसकी परस्तिश करो 
वो बादशाहों का बादशाह है 
उसकी परस्तिश करो -2 
वो जो पानी को मय में बदलता है 
बियाबानों में मन्ना बरसाता है -2 
जलती झाड़ी में मूसा को खुद आकर 
अपने नूर का जलवा दिखाता है -2 
हमारा खुदावंद तो जिंदा खुदावंद है 
उसकी परस्तिश करो 
वो बादशाहों का बादशाह है 
उसकी परस्तिश करो -2  

Hamara Khudawand To Zinda Khudawand Hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added