+917832878330

24/7

Himachal Pradesh, India

Kin Lafzon Se Bayan Main Karun | John Thapa

Share This Post

Kin Lafzon Se Bayan Main Karun Lyrics

किन लफ़्ज़ों से बयां मैं करूँ
तेरे महान प्यार को
किस प्यार से तुलना मैं करूँ
तेरे महान प्यार को
कोई शब्द नहीं, कोई लफ़्ज़ नहीं
कोई दूजा नहीं 
जो दे अपने आप को -2
जीवन का जल है तू, सागर बनाने वाला
एक बूंद पानी को तू, तरसा गया तू प्रभु
दुनियां बनाने वाला, सब का तू बादशाह
इंसान के आगे, बेबस तू बन गया 
सारे खजाने का मालिक होकर
चंद सिक्कों में बेचा गया
किन लफ़्ज़ों से बयां मैं करूँ...
प्यार का सागर, अब्बा पिता है तू
एकलौता अपना बेटा कुरबां किया -2
मुझको बचाने, दुनियां बचाने
एकलौता अपना यीशु कुरबां किया
इतना है प्यार तेरा मेरे लिए
और कोई ना कर पाएगा
किन लफ़्ज़ों से बयां मैं करूँ...
Kin Lafzon Se Bayan Main Karun
Tere Mahaan Pyar Ko 
Kis Pyar Se Tulna Main Karun 
Tere Mahaan Pyar Ko
Koi Shabd Nahin, Koi Lafz Nahin
Koi Dooja Nahin 
Jo De Apne Aap Ko -2
Jeevan Ka Jal Hai Tu
Sagar Banane Wala
Ek Boond Pani Ko Tu 
Tarasa Gaya Prabhu 
Duniyan Banane Wala
Sab Ka Tu Baadshah 
Insaan Ke Aage
Bebas Tu Ban Gaya 
Saare Khajane Ka Malik Hokar
Chand Sikkon Me Becha Gaya 
Kin Lafzon Se Bayan Main Karun...
Pyar Ka Sagar, Abba Pita Hai Tu
Eklauta Apna Beta Kurbaan Kiya -2
Mujhko Bachane, Duiyan Bachane
Eklauta Apna Yeshu Kurbaan Kiya 
Itna Hai Pyar Tera Mere Liye
Aur Koi Na Kar Payega 
Kin Lafzon Se Bayan Main Karun...

Kin Lafzon Se Bayan Main Karun | John Thapa

Written, composed and sung by John Thapa.

More From John Thapa:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here