Yeshu Namumkin Ko Kare Mumkin

Yeshu Namumkin Ko Kare Mumkin

कांटों भरी वादी को -2 
फूलों से भरता है -2 
जो काम नामुमकिन है 
यीशु वो करता है -2
गोलियत जैसों को हराता है 
यरीहों सी दीवारों को गिराता है -2 
अपने लोगों के खातिर -2 
दुश्मन से लड़ता है 
जो काम नामुमकिन है 
यीशु वो करता है -2
लहरों पे चल के दिखाता है 
तूफान में चलना सिखाता है -2 
गिरते हुए लोगों का -2 
वो हाथ पकड़ता है 
जो काम नामुमकिन है 
यीशु वो करता है -2 
जन्म के लंगड़े चलाता है 
कब्रों से मुर्दे जिलाता है -2 
अंधों को आंखें मिलती -2 
जिस राह गुजरता है 
जो काम नामुमकिन है 
यीशु वो करता है -2
समंदर में रास्ता बनाता है 
रोटी अकाल में खिलाता है -2 
करम -ऐ - खाली जीवन को -2
रूह - ऐ - पाक से भरता है 
जो काम नामुमकिन है 
यीशु वो करता है -2

WORSHIPER : THOMAS KOHALI / ROHINI SAMUAL

LYRICS/COMP: PS.KARMA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added