12.8 C
Shimla
Monday, April 22, 2024

Ek Masiha Hi Jahan Me Hai | Ishrat Adeeb

Ek Masiha Hi Jahan Me Hai Lyrics

एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो -2 
उससे फ़ुर्क़त हो मुझे, 
कैसे गवारा यारो? 
एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो -2 
दिल के एहसास के साथ, 
रातों को चौंक उठता हूँ -2 
जैसे मुझको भी मसीहा ने, 
पुकारा यारो -2 
उससे फ़ुर्क़त हो मुझे, 
कैसे गवारा यारो? 
एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो -2 
रंज-ओ-ग़म, गालियाँ, 
दुश्नामियां और ईजा'एं -2 
मेरी खातिर, उन्हें सब कुछ है, 
गवारा यारो -2 
उससे फ़ुर्क़त हो मुझे, 
कैसे गवारा यारो? 
एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो -2  
मेरी खातिर हुए, मसलूब मसीहा मेरे -2 
उसके गम से मैं करूँ कैसे, 
किनारा यारो? -2 
उससे फ़ुर्क़त हो मुझे, 
कैसे गवारा यारो? 
एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो -2  
क्यों न इशरत (गीतकार) रहे, 
मद्दाह मसीहा का मुदाम -2 
उसने रंग-ए-रूखे हालात, 
निखारा यारो -2 
उससे फ़ुर्क़त हो मुझे, 
कैसे गवारा यारो? 
एक मसीहा ही जहान में है, 
सहारा यारो...
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro -2
Us Se Furkat Ho Mujhe, 
Kaise Gawara Yaro?
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro -2
Dil Ke Ehsaas Ke Sath,
Raaton Ko Chonk Uthta Hun -2
Jaise Mujhko Bhi Masiha Ne,
Pukara Yaro -2
Us Se Furkat Ho Mujhe, 
Kaise Gawara Yaro?
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro -2
Ranj-O-Gam, Gaaliyan,
Dushnamiyan Aur Izaayen -2
Meri Khatir, Unhen Sab Kuchh Hai,
Gawara Yaro -2
Us Se Furkat Ho Mujhe, 
Kaise Gawara Yaro?
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro -2
Meri Khatir Huye, 
Masloob Masiha Mere -2
Uske Gam Se Main Karun Kaise,
Kinara Yaro? -2 
Us Se Furkat Ho Mujhe, 
Kaise Gawara Yaro?
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro -2
Kyon Na Ishrat (Lyricist) Rahe,
Maddaah Masiha Ka Mudaam -2 
Usne Rang-E-Rukhe Halaat,
Nikhara Yaro -2
Us Se Furkat Ho Mujhe, 
Kaise Gawara Yaro?
Ek Masiha Hi Jahan Me Hai,
Sahara Yaro...

Ek Masiha Hi Jahan Me Hai | Ishrat Adeeb | Vinod Vishwas

फ़ुर्क़त = दूरी, जुदाई, अलगाव, विरह

गवारा = स्वीकार्य

रंज-ओ-ग़म = कष्ट और दुःख, हर प्रकार के कष्ट

दुश्नामी = दुश्नाम खाना. इलज़ाम अपने सर लेना, गालियां खाना

ईजा’ = दुख देना, तकलीफ़ देना

मसलूब = सलीब पर चढ़ाया गया

मद्दाह = प्रशंसक, फ़ैन, तारीफ़ करने वाला, प्रशंसा या स्तुति करने वाला, श्लाघी, भटई करने वाला, ख़ुशामदी, स्तुतिकर्ता, स्तुति करने वाला

मुदाम = नित्य, सदा, हमेशा, निरन्तर, लगातार

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss