Ham To Jalte Deep Hain

Ham To Jalte Deep Hain

हम तो जलते दीप हैं
यीशु की ज्योति के -2
जब तक हम हैं इस जहाँ में
जलते जाना है -2
अँधियारे डगर पे हो, आँधियां कहीं -2
हर डगर पे ज्योति यीशु की फैलाना है -2
हम तो जलते दीप हैं
जलना जिन्दगी हमारी, यीशु के लिए -2
जिसने दाग हर गुनाह के, मेरे धो दिये -2
जिसने सूली पर जलाई, ज्योति प्रेम की -2
वो ही ज्योति, आज मेरे दिल में जल रही
कोई भटका हो डगर पे, बेपनाह सा -2
आज सूली के तले, उसे बुलाना है
हम तो जलते दीप हैं
जल रही थी जिंदगी, यहाँ गुनाह में -2
यीशु ने हमको ले लिया, अपनी पनाह में
दे रहा आवाज सबको, आओ मेरे पास -2
पास रखूंगा हमेशा, होते क्यों निराश
जिसने पाया है हमें, देकर अपनी जान -2
उस मसीह की ज्योति, हर कहीं फैलाना है
हम तो जलते दीप हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added