23.7 C
Shimla
Thursday, July 7, 2022

Popular

Jeevan Ki Khoj Me Nikla Re

Jeevan Ki Khoj Me Nikla Re

जीवन की खोज में निकला रे – 2
यीशु पाया, यीशु पाया – 2
मार्ग पाया, सत्य पाया, जीवन पाया रे -4
ओ साथी रे, साथी रे
ऐ बंधु रे, बंधु रे 
इस दुनियां में, घोर अंधेरा
शैतां ने है, डाला डेरा -2
सबके मन को, इसने घेरा 
सबके मन को, उसने घेरा
ओ निकला उजियारे की खोज में – 3
यीशु पाया, यीशु पाया -2
मार्ग पाया, सत्य पाया, जीवन पाया रे -4
ओ साथी रे, बंधु रे 
ऐ बंधु रे, साथी रे
मन के अंदर, पाप की नगरी
भरती जाये, कर्म की गगरी -2
कौन निकाले, भव सागर से
हाँ, मेरी प्यासी अंखियाँ तरसे
निकला छुटकारे की खोज में – 3
यीशु पाया, यीशु पाया -2
मार्ग पाया, सत्य पाया, जीवन पाया रे -4
ओ साथी रे, बंधु रे 
ऐ बंधु रे, साथी रे
सुनो रे सुनो रे खुशखबरी 
खुशखबरी जीवन की 
ओ मांझी रे मांझी रे   
ओ बन्धु रे बन्धु रे
ओ साथी रे साथी रे 

Jeevan Ki Khoj Me Nikla Re

Jeevan ki khoj me nikla re
Yesu paaya-4
Marg paaya satya paaya 
jeevan paaya re-4
Is duniya me ghor andhera
Shaitaan ne hai daala dera
Sabke man ko usne ghera
Sabke man ko usne phera
Nikla ujiyale ki khoj me
Man ke andar paap ki nagri
Bharti jaye karm ki gagri
Kaun nikale bhavsagar se
Meri pyaasi ankhiyan tarsen
Nikla chhutkare ki khoj me

Jeevan Ki Khoj Me Nikla Re

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यदि आप हमारे इस कार्य में आर्थिक रीति से सहयोग देना चाहते हैं तो आप हमसे [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। या UPI द्वारा [email protected] पर अपनी योगदान राशि भेज सकते हैं।

Popular

Don't Miss