Popular

Kyon Masiha Paak Ki Raahon Se Ghabrane Lage | Guddu James | Qawwali

Kyon Masiha Paak Ki Raahon Se Ghabrane Lage | Qawwali

आज, जबकि समय करीब है 
मुझे और आपको चाहिए 
पूरी तैयारी करें 
अपने खुदा से लिपटे रहें 
उससे मोहब्बत करते रहें 
क्योंकि वक़्त करीब है 
लेकिन मैं और आप 
जबकि करीब आना चाहिए 
और धीरे-धीरे दूर हो रहें हैं 
मेरे और आपके मन 
ज़िन्दगी की फिकरों में सुस्त हो चुके हैं 
और इस कदर सुस्ती बढ़ती जा रही है 
कि आज खुदा को, न तो कोई ढूंढ रहा है 
और न कोई उसके पास जाने की 
कोशिश कर रहा है 
क्यों ऐसा हो रहा है? क्यों?
क्यों मसीहा पाक की 
राहों से घबराने लगे -6 
क्यों गुनाह की ज़िन्दगी को -2 
फिर से दोहराने लगे -2 
बाइबल कहती है… 
इसलिए जो समझता है कि मैं स्थिर हूँ 
जो समझते ही नहीं उसकी कोई बात नहीं 
लेकिन जो ये समझता है 
कि मैं विश्वासी हूँ, मैं स्थिर हूँ 
वो चौकस रहे 
कुत्तों से चौकस रहे 
अपने बारे में चौकस रहे 
अधर्मियों के धर्म के चौकस रहे 
शैतान से चौकस रहे 
बेकार अक्लमंदी से चौकस रहे 
कोई धोखे में शिकार न कर ले 
उससे चौकस रहे 
धर्म के काम दिखाने वालों से चौकस रहे 
झूठे भविष्यद्वक्ताओं से चौकस रहे 
दोस्त से चौकस रहे 
परम दोस्त से भी चौकस रहे 
वरन अपनी अर्धांगनी से भी
संभल कर बोलना 
लेकिन मैं और आप सब कुछ जानते हैं 
सब कुछ सुनते हुए भी, नहीं सुनते 
ठीक ही तो कहा है…
देखते अंधे बने
सुनते हुए बहरे बने -2 
हमने समझाया उन्हें -2 
हम उनको बेगाने लगे -4 
आज न तो बाप के पास 
बाप जैसी मोहब्बत है 
न बेटे के पास 
बेटे जैसी इज्जत है 
न माँ के पास
बेटी के लिए कोई आदर्श है 
न बेटी के पास 
माँ के लिए कोई इज्ज़त है 
न बहन के पास, भाई की इज्ज़त है 
न भाई के पास, बहन की इज्ज़त है 
आज सब के सब, सब के सब 
सिर्फ अपने मतलब में लगे हुए हैं 
और मतलब इस कदर बढ़ गया है 
कि इंसानियत को भूल चुके हैं 
भूल चुके हैं…
खुदगर्ज़ ऐसे बने कि 
छोड़ दी इंसानियत -2 
अपने मतलब के लिए -2 
अपनों को मिटाने लगे -4 
अज़ीज़ो ये जानते हुए भी कि 
दुनियां एक ऐसा झूठा रंग है 
जो कभी किसी पे सदा चढ़ा नहीं रहता 
एक न एक दिन ये रंग उतर जाता है 
एक ऐसा धुआं है 
जो कि निरंतर उड़ता ही रहता है 
और पता नहीं कब खो जाए 
एक ऐसा हवा से उड़ाया हुआ बादल है 
जो पता नहीं कब कहाँ 
किस जगह पर पहुँच जाए 
फिर भी, फिर भी लोग 
इस दुनियां के झूठे रंग में डूबे पड़े हैं 
अपने आप को डूबा रखा है 
और खुद तो बहक जाते ही हैं 
साथ में अपने ऊपर भरोसा 
रखने वालों को भी बहका देते हैं… 
खो गए दुनियां के सारे 
लोग झूठे रंग में -2 
खुद तो बहके और दूसरों -2 
को भी बहकाने लगे -4 
आज जब कि -2 
मेरा और आपका मुख़ालिफ़ 
मेरा और आपका विरोधी 
मरे हुए कुत्ते के समान नहीं 
परन्तु बाइबल के अनुसार 
शेर-ए-बब्बर की मानिंद 
मुंह फाड़े इस तलाश में है 
कि किस को पाए 
और उसको फाड़ खाए 
बजाए उसके टकराने के 
बजाए उससे टकराने के 
हम आपस में ही टकराने पड़े हैं 
हम आपस में ही टकराए पड़े हैं 
आज मुझे और आपको 
अपने घर की फिकर नहीं है 
पड़ोसी की ज्यादा फिकर रहती है 
उसके घर में कौन बैठा है 
कितनी देर बैठा है 
कौन आया, कौन गया 
उसकी बेटी कहाँ है 
उसका बेटा कहाँ है 
इस बात की तलाश ज्यादा रखते हैं 
अपने घर में नहीं देखते 
दूसरे के घर में चोरी न हो जाए 
चोरी न हो जाए 
चिल्लाते रहते हैं 
और पता चलता है 
घर में डाका पड़ चुका है 
अज़ीज़ो, दूसरों को मत देखिये 
अपने को देखिये 
हम कहाँ हैं, हम क्या कर रहे हैं 
वक्त है शैतान से 
टकरा के उसको दें हरा -2 
पर मगर हम आज आपस -2 
में ही टकराने लगे -4 

Kyon Masiha Paak Ki Raahon Se Ghabrane Lage | Guddu James | Qawwali

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular