15.1 C
Shimla
Tuesday, April 16, 2024

Maa Jaise Sambhalti Hai | Sunny Vishwas

Maa Jaise Sambhalti Hai Lyrics

माँ जैसे संभालती है 
वैसे यीशु संभालेगा 
अंधियारे इस जग में वो 
तुझको कभी न छोड़ेगा
माँ जैसे संभालती है 
राहों में गर कांटे हों 
मुसीबत भरा हो सफ़र 
गोदी में यीशु उठाके तुझको 
खुद चलेगा काँटों पर -3 
माँ जैसे आँसू पोंछती 
हर आँसू यीशु पोंछेगा 
तेरी एक हंसी के लिए 
वो अपना लहू बहा देगा -2 
माँ जैसे संभालती है 
सुख में सब पास होते हैं 
दोस्त साथ चलते हैं 
दुःख में सब छोड़ जाते हैं 
अपने बेगाने बन जाते हैं -3 
माँ जैसे संग संग रहती है 
वैसे यीशु संग संग रहेगा 
चाहे सुख हो, चाहे दुःख हो 
तुझको कभी न छोड़ेगा -2 
माँ जैसे संभालती है
Maa Jaise Sambhalti Hai
Vaise Yeshu Sambhalega
Andhiyare Is Jag Me Wo
Tijhko Kabhi Na Chhodega 
Maa Jaise Sambhalti Hai
Raahon Me Gar Kante Hon
Musibat Bhara Ho Safar 
Godi Me Yeshu Uthake Tujhko
Khud Chalega Kanton Par -3
Maa Jaise Aansu Ponchhti
Har Aansu Yeshu Ponchhega 
Teri Ek Hansi Ke Liye 
Wo Apna Lahu Baha Dega -2
Maa Jaise Sambhalti Hai 
Sukh Me Sab Paas Hote Hain 
Dost Sath Chalte Hain 
Dukh Me Sab Chhod Jaate Hain 
Apne Begaane Ban Jaate Hai -3
Maa Jaise Sang Sang Rahti Hai 
Vaise Yeshu Sang Sang Rahega 
Chahe Sukh Ho, Chahe Dukh Ho
Tujhko Kabhi Na Chhodega -2
Maa Jaise Sambhalti Hai

Maa Jaise Sambhalti Hai | Sunny Vishwas

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss