Mere Yeshu Ki Qurbani | Subhash Gill

Mere Yeshu Ki Qurbani

क़ुरबानी, क़ुरबानी, क़ुरबानी -2 
मेरे यीशु की क़ुरबानी -2 
देती हमें है जिंदगानी -2 
खुद जो खुदा का कलमा था -2 
धारी शक्ल इंसानी -2 
मेरे यीशु की क़ुरबानी 
देती हमें है जिंदगानी 
लहू ही वसीला था 
गुनाहों से माफ़ी का -2 
भेड़ बकरों का लहू 
बलि को न काफ़ी था -2 
देने को हमें जिंदगानी 
यीशु को पड़ी जां लुटानी -2 
खुद जो खुदा का कलमा था -2 
धारी शक्ल इंसानी -2 
मेरे यीशु की क़ुरबानी 
देती हमें है जिंदगानी
यीशु के लहू में शिफ़ा 
लहू में रिहाई है -2 
बदरुहों से जकड़ों को 
आज़ादी दिलाई है -2 
करता है दूर परेशानी 
यीशु का लहू है लासानी -2 
खुद जो खुदा का कलमा था -2 
धारी शक्ल इंसानी -2 
मेरे यीशु की क़ुरबानी 
देती हमें है जिंदगानी
मुर्दे राह दिखाएंगे क्या? 
यीशु राह दिखाता है -2 
यीशु राह ज़िन्दगी 
कलाम ये बताता है -2 
कैसी है बात दिल लुभानी 
यीशु है ज़िन्दगी का पानी -2 
खुद जो खुदा का कलमा था -2 
धारी शक्ल इंसानी -2 
मेरे यीशु की क़ुरबानी 
देती हमें है जिंदगानी

Mere Yeshu Ki Qurbani | Subhash Gill

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added