Popular

Saare Aalam Ke Gunahon Ka Kaffara Tu Hai

Saare Aalam Ke Gunahon Ka Kaffara Tu Hai

सारे आलम के गुनाहों का कफ़ारा तू है
ऐ मसीहा बेसहारों का सहारा तू है
देखना है जब खुदा को
तो देख लूँ तुझको -2
जीती यादों पे खुदा का
वो नज़ारा तू है
गर्दिशे मौज बनाकर
और तूफाँ सारे-2
मेरी खोई हुई कश्ती
का किनारा तू है
बनते हैं दोस्त जो दुश्मन
तो बन ही जाने दो-2
बन गया दोस्त मसीहा
तो हमारा तू है

Saare Aalam Ke Gunahon Ka Kaffara Tu Hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular

Recommended