Chamka Hai Kaisa Tara

Chamka Hai Kaisa Tara

चमका है कैसा तारा
सारे तारों से न्यारा -2
धरती गाए, अम्बर सारा 
जन्मा है अब तारा 
जय जय गाए, जय जय गाए
जय जय गाए, जय जय गाए
जय जय गाए, जय जय गाए
ये संसारा
देखो चले आओ, जन्मा है किधर 
महलों में है या, छोटी सी नगर -2 
ढूंढो तो कोई, महलों में नहीं 
दूतों ने कहा, चरनी में वही
सारे जग का तारणहारा 
प्रभु यीशु, हमारा 
चमका है कैसा तारा...
जय जय गाओ रे, आया मुक्ति राज
ईश्वर ने प्यारे, रख ली अपनी लाज -2 
हम तो पापों में, अपने ही डूबे थे 
हम सभी तेरे, पूजन करते 
यीशु जीता, शैतान हारा 
प्रभु यीशु, हमारा 
चमका है कैसा तारा...

Chamka Hai Kaisa Tara

नोट: यदि आप इस गीत का लिरिक्स जानते हैं तो प्लीज कमेंट में शेयर करें, इसमें हमें थोड़ी गलती की गुंजाइश लग रही है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added