3.5 C
Shimla
Friday, February 23, 2024

Ham Naam-E-Masiha Lekar

Ham Naam-E-Masiha Lekar Lyrics

हम नाम-ए-मसीहा लेकर, 
जब घर से निकल जाते हैं -4
तब राह के हर एक काँटे -2 
फूलों में बदल जाते हैं -4 
इंजील का लगता है जो, 
एक तीर निशाने पर तो -4
इंसान की क्या है यारों -2  
हैवान संभल जाते हैं -4 
मैं कैसे बताऊं लोगों, 
वो दौर तसल्ली वाला -4
जब आंसू दुआ में आकर -2 
पलकों पे मचल जाते हैं -4 
जब देते हैं कुव्वत यीशु, 
शैतान के तीरों को हम -4 
पैरों की ज़रूरत क्या है? -2 
चुटकी से मसल जाते हैं -4 
सह लीजे सभी की क्योंकि, 
हर चीज की हद होती है -4
बर्दाश्त से देखा हमने -2 
पत्थर भी पिघल जाते हैं -4 
Ham Naam-E-Masiha Lekar
Jab Ghar Se Nikal Jaate Hain -4
Tab Raah Ke Har Ek Kaante -2 
Phoolon Me Badal Jaate Hain -4
Injeel Ka Lagta Hai Jo
Ek Teer Nishane Pae To -4
Insaan Ki Kya Hai Yaaron? -2
Haiwan Sambhal Jaate Hain -4
Main Kaise Bataun Logon
Wo Daur Tasalli Wala -4
Jab Aansu Dua Me Aakar -2
Palkon Pe Machal Jaate Hain -4
Jab Dete Hai Kuwat Yeshu
Shaitaan Ke Teeron Ko Ham -4
Pairon Ki Zarurat Kya Hai -2
Chutki Se Masal Jaate Hain -4
Seh Leeje Sabhi Ki Kyonki 
Har Cheez Ki Had Hoti Hai -4
Bardasht Se Dekha Hamne -2
Patthar Bhi Pighal Jaate Hain -4

Ham Naam-E-Masiha Lekar | Guddu James

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

lyricsa (hindi christian song lyrics)

क्या लिरिक्सा आपके लिए एक उपयोगी संसाधन है?

हम आपको बेहतर सेवाएँ देने के लिए प्रयासरत हैं, कृपया YouTube पर भी हमारा समर्थन करें...

Don't Miss