8.3 C
Shimla
Wednesday, April 24, 2024

Meaning of Urdu Words

Meaning of Urdu Words (गीतों में इस्तेमाल उर्दू शब्दों के अर्थ)

अ 

  • अबदी = अनादि, हमेशा की, नित्ये की, सार्व-कालिक
  • अबर = बहुत नेक, उदार और दानी, सच्चा, बहुत सच्चा
  • ‘अर्श = सब आस्मानों से ऊपर का स्थान, परमेश्वर का सिंहासन, आकाश, आसमान, तख़्त, सिंहासन
  • ‘अर्ज़ = निवेदन, याचना, प्रार्थना, आवेदन, गुज़ारिश, अनुरोध
  • अज़मत = आदर, सम्मान, इज्ज़त, प्रतिष्ठा, बुजुर्गी, बड़ाई, ठाट-बाट, वैभव।
  • ‘अता = प्रदान की हुई वस्तु, प्रदत्त वस्तु, प्रदान करना, इनाम, पुरस्कार, बख़्शिश, बड़ों की ओर से छोटों को मिलनेवाला दान
  • अतिया = उपहार
  • अश्क-बार = आँसू बरसाने वाला, रोने वाला
  • ‘अज़ीम = बहुत बड़ा, विशालकाय, पूज्य, विशाल, विस्तृत
  • अथाह = अत्यंत गहरा; जिसकी थाह या गहराई का पता न चल सके। जैसे- समुद्र की अथाह गहराई, असीमित, अमित, बहुत अधिक, अनुमान से परे
  • अलफ़ाज़ = शब्दसमूह, अर्थपूर्ण आवाज़ें जो बोली और लिखी जाएँ
  • अमान = रक्षा, बचाब, शरण, पनाह, शांति, सुरक्षा, हिफ़ाज़त, निर्भयता, बेखौफ़ी, सुकून
  • असीरी = क़ैद, गिरफ़्तारी, नज़रबंदी
  • असीर = बंदी, क़ैदी, कारावासी
  • अफ़लाक = आकाश समूह, आसमान, आसमानों में घूमना, आकाश-भ्रमण
  • ‘अज़ाब = पाप की सज़ा, दुख, यातना, तकलीफ़, दर्द، पीड़ा, मुसीबत, बला, वबाल, जंजाल

आ 

  • आ’ला = उच्च, श्रेष्ठ, महान।
  • आक़ा = मालिक, स्वामी, प्रभु
  • आलूदगी = प्रदूषण, दूषण, मिलावट, अपवित्रता, नापाकी, लत, दुरव्यसन, नैतिक पतन, पातकता, दुष्टता, पापलिप्तता, लांछन, कलंक, धब्बा, दग़, दोष
  • आसूदा = संतुष्ट, तृप्त, बेफ़िक्र, निश्चिंत
  • आब-ए-हयात = अमृतजल, सुधा, अमृत
  • आरज़ू = चाहत, इच्छा, वांछा, तमन्ना, इश्तियाक़, ख्वाहिश, पाने की तलब, मनोकामना, दिली मुराद

  • इंतहा = ख़त्म हुआ, विराम की जगह
  • इल्तिजा = निवेदन, गुज़ारिश, विनती, प्रार्थना, दरख़्वास्त, दुहाई, मिन्नत, ख़ुशामद
  • ‘इशरत = ख़ुशी, आनंद, चैन, आराम, हर्ष
  • ‘इस्याँ = विद्रोह, बगावत

  • ईमान = विश्वास, यक़ीन
  • ईजा’ = दुख देना, तकलीफ़ देना

  • उमंग = ख़ाहिश, तमन्ना, आरज़ू, जोश, तरंग, शौक़
  • उम्रदराज़ = लंबी उम्र वाला
  • ‘उम्दा = बढ़िया, प्रशंसनीय, उत्तम, श्रेष्ठ, सुन्दर, मनोरम, विश्वासपात्र, अच्छा

  • करम = कृपा, अनुग्रह, दया, मेहरबानी
  • कमाल = गुण, कौशल, हुनर, विद्वत्ता, कारीगरी, कोई अद्भुत, अनोखा या साहसपूर्ण काम किसी बहुत ही कौशल से संपन्न करने का भाव
  • क़यामत = पुनरुत्थान
  • कलाम = वाणी; बोली, वाक्य, वचन
  • कलमा-ए-हक़ = ईश्वर की कही बातें, सच्चाई
  • कफ़्फ़ारा = किसी पाप से शुद्धि के लिए किया जाने वाला कृत्य, प्रायश्चित्त, बदला, भरपाई
  • कर्ब = पीड़ा, दुःख, दर्द, बेचैनी, ग़म, रंज, व्याकुलता, यातना, शारीरिक परेशानी और मानसिक दुःख
  • क़दीम-उल-अयाम (qadiim-ul-ayaam) = जो आदि से हो, अनादि, पुरातन, पुराना, जो आदि से हो, प्राचीन, सनातन
  • कुमक = मदद, सहारा, सहायता, सैनिक सहायता, अतिरिक्त सेना, आपूर्ति, अनुपूर्ति
  • क़ुदरत = प्रकृति, सामर्थ्य, खुदा की कुदरत, वश, ज़ोर, शक्ति, ताक़त, समृद्धि, ईश्वरीय शक्ति
  • क़ुबूल = स्वीकार करना, ग्रहण करना, अपनाना
  • क़ुद्दूस = अत्यंत पवित्र, शुद्ध, पवित्र, बहुत ही पाक, ईश्वर का एक नाम
  • कुदूरत = मलिनता, मैल, मैलापन, गंदलापन, गंदगी
  • क़ुव्वत = शक्ति, ऊर्जा, ज़ोर, बल, सामर्थ्य, ताक़त, इंद्रिय, सहारा, मदद, दौलत, रियासत
  • क़ुर्बानी = बलिदान, भेंट, आत्मत्याग, निसार, आत्मबलिदान
  • क़ुर्बत = नज़दीकी, संबंध, निकटता
  • कामिल = पूरा; पूर्ण; कुल; सब; समूचा; संपूर्ण, परिपूर्ण, निपुण, कुशल, कौशलपूर्ण, बिलकुल, मुकम्मल, सर्वांगपूर्ण, निपुण, दक्ष, होशियार
  • क़ाएम = दृढ़, मजबूत, पायदार, स्थायी, टिकाऊ, बरक़रार, जो स्थापित हो, स्थिर
  • कायनात (काइनात) = ब्रह्मांड, दुनियां, संसार, सृष्टि, जगत, विश्व
  • क़ादिर = क़ुदरत या शक्ति रखने वाला, शक्तिशाली, समर्थ, ताक़तवर, क़ाबू रखने वाला, नियन्त्रण रखने वाला, माहिर, ईश्वर का एक नाम
  • क़ादिर-ए-मुतलक़ = सर्वशक्तिमान
  • कुंबे = परिवार, घराना, बाल बच्चे, ख़ानदान
  • कोह-ए-कलवरी = कलवरी का पहाड़, कलवरी का पर्वत
  • कोह = पर्वत, पहाड़
  • कौल = वचन, वायदा, प्रतिज्ञा।

  • ख़ुद-ग़रज़ = स्वार्थी, स्वार्थपर, केवल अपना स्वार्थ सिद्ध करनेवाला, अपने मतलब में चौकस
  • ख़्वाहिश = अभिलाषा, कामना, इच्छा, आकांक्षा, चाहत, उत्कंठा، लालसा, तलब
  • ख़ता = चूक, ग़लती, जुर्म, अपराध, दोष, पाप, भूल, त्रूटी, किसी व्यक्ति से होने वाला अपराध, कसूर
  • खुदा-ए-तसलीस = त्रिएक परमेश्वर
  • ख़ालिक़ = सष्टि की रचना करनेवाला, सृष्टिकर्ता; परमेश्वर, उत्पत्ति करने वाला; बनाने वाला।
  • ख़िदमत = टहल, चाकरी, सुश्रुषा, सेवा, नौकरी, कार्य, ख़ातिरदारी।
  • ख़ुदावंद = ईश्वर, खुदा, स्वामी, मालिक
  • खौफ़ = डर, भय, आशंका, खटका

  • ग़यूर = ख़ुदा का एक सिफ़ाती नाम
  • गर्दिश = भ्रमण, चारों ओर घूमना-फिरना, फिराव, चक्कर, फेर, बदलाव, समय का परिवर्तन, ज़माने का बदलाव, दुर्भाग्य, बदक़िस्मती, विपत्ति, संकट, मुसीबत, आफ़त
  • ग़म-ख़्वार = सहानुभूति करनेवाला, हमदर्द, ग़म खाने वाला, दुख दर्द बाँटने वाला
  • ग़लबा = हावी होना, जीतना, हमला, अभिभूत करने वाली प्रबलता, प्रभुत्व, सत्ता, इक्तिदार, प्राचुर्य, बहुतायत, मत-बाहुल्य, विजय-प्राप्ति, तसल्लुत
  • ग़ालिब = मुसल्लत, छाया हुआ, जो किसी पर छाया हुआ हो, जिसने किसी पर अधिकार जमा लिया अथवा उसे अभिभूत कर लिया हो, शक्तिशाली, ज़बरदस्त, विजेता, फ़ातेह, महाबलशाली, ज़बरदस्त, ज़ोर आवर
  • गवारा = मनभाता, अनुकूल, पसंदीदा, स्वीकार्य, जो मान्य हो
  • गरचे = यद्यपि, हालाँकि, अगर-चा
  • गुफ़्तुगू = बातचीत, वार्ता, वार्तालाप, भाषण

  • चराग़ = दीप, दीपक, दीया
  • चौपान = चरवाहा
  • चारा-गर = चिकित्सक, उपचारक, तबीब, वैद्य

  • जलवा = नूर, तेज़ प्रकाश
  • जलाल = श्रेष्ठता, महत्ता, ऐश्वर्य, वैभव, शान, गौरव, मर्यादा, महिमा, शोभा, तेज, प्रताप, शक्ति
  • ज़बीं = माथा, मस्तक।
  • ज़हमत = विपत्ति, मुसीबत, कष्ट, झंझट, बखेड़ा, सख़्ती, कठिनाई, तकलीफ़, मुश्किल
  • जलाली = तेज या प्रकाश से युक्त, जलालवाला, प्रतापवान्, जिसमें जलाल हो; रौबीला; गौरवशाली
  • जमाल = बहुत सुन्दर रूप, ख़ूबसूरती, सौंदर्य, सुंदरता, ऐश्वर्य, हुस्न, रूप, जौबन, शोभा, माधुर्य, मुखकांति
  • ज़ात = व्यक्तित्व, शख्सीयत, स्वयं, खुद, अस्तित्व।
  • ज़ार = क्षीण, दुबला-पतला, अशक्त, बेज़ोर, दीन, दुःखी, बेकस
  • ज़ीशान = शान-ओ-शौकत वाला, प्रतिष्ठित, शानदार
  • ज़िया = चमक, प्रकाश, आभा, ज्योति, रोशनी, नूर
  • जुंबिश = हिलना-डुलना, कंप, कंपन, टस से मस होने की हालत, हलचल, भूकंप, ज़लज़ला, गति, चाल, स्पंदन
  • जुरअत = साहस, हिम्मत, उत्साह, उमंग, हौसला।
  • जुदा = पृथक्, अलग, भिन्न, मख्तलिफ़, विरहग्रस्त, निराला
  • जिस्म-ओ-जान = तन और मन, शरीर और प्राण

  • तख़्त-नशीं = तख्त पर बैठने वाला, बादशाह, राजा, शासक।
  • तमजीद = ईश्वर की स्तुति, कीर्तन, गुणगान
  • तराना = एक प्रकार का गाना; अच्छे ढंग से गाया जाने वाला सुंदर गीत।
  • तफ़रीक़ = फरक होने की अवस्था या भाव, अन्तर, भिन्नता, पृथक्ता, जुदाई
  • तवक्कुल = परमेश्वर पर निर्भरता या परमेश्वर की योजना पर भरोसा
  • तबीब = उपचारक, चिकित्सक, वैद्य, डाक्टर
  • तजल्ली = चमक, प्रकाश, रौशनी, तेज, नूर, आभा, प्रताप, जलाल, अध्यात्मज्योति, परदा हटना, दर्शन, प्रकट होना, झाँकी; चमक-दमक, झलक, ईश्वरीय प्रकाश
  • ता-ज़िंदगी = तमाम उम्र, संपूर्ण जीवन, आजन्म, यावज्जीवन, उम्र भर जीने तक
  • ताबिंदा = चमकदार, नूरानी, चमकनेवाला, प्रकाशमान, रौशन, उज्ज्वल
  • ता’ज़ीम = आदर, सत्कार, सम्मान, इज्ज़त, प्रणाम, तस्लीम्, एहतिराम, आराधना, श्रद्धा
  • ताब = शक्ति, ज़ोर, ताक़त, बल, ज्योति
  • तिश्ना = प्यासा, तृषित, पिपासित, अतृप्त, जिसका जी न भरा हो, तिश्ना भी प्रचलित, ख़्वाहिशमंद, लालसा, इच्छुक
  • तिश्ना-लबी = प्यास, चाह, उत्साह, इच्छा, प्यासा होंठ
  • तीरगी = अँधेरा, अंधकार, तिमिर, गदला पन, धुंधलापन, स्याही
  • तौफ़ीक़ = अनुग्रह, शक्ति, सामर्थ्य, हिम्मत, हौसला

  • दस्त-बरदार (dast-bardaar) = जिसने किसी वस्तु पर से अपना स्वत्व (एकाधिकार) हटा लिया हो; किसी कार्य या बात से स्वयं को अलग कर लेने वाला; जो बेदावा हो, बेतअल्लुक़, विरक्त
  • दर्स = शिक्षा, शिक्षण, दर्शन, दीदार
  • दहशत-नाक = भयसंकुल, दहशत से भरा हुआ, खौफनाक, भयानक, डरावना
  • दायम = सदा, हमेशा
  • दानाई (daanaa.ii) = बुद्धिमत्ता, अक्लमंदी, चातुर्य, निपुणता
  • दु’आ = प्रार्थना, निवेदन, विनती
  • दुनिया-ए-फ़ानी = नश्वर और विनाशकारी संसार
  • दुश्नामी = दुश्नाम खाना. इलज़ाम अपने सर लेना, गालियां खाना
  • दीवाना = प्रेमी, आशिक़
  • दिलेर = बहादुर, साहसी, उत्साही, निर्भीक, हौसलामंद, अभय, निडर

न 

  • नम = आर्द्र, गीला, तर, आर्द्रता, तरी, नमी, भीगा हुआ
  • नजात = मुक्ति, रिहाई, छुटकारा, आज़ादी, क्षमा, माफ़ी, मोक्ष, निर्वाण
  • नग़्मा-ख़्वाँ = गाने वाला, गाना सुनाते हुए, गायक, प्रशंसा करने वाला, गुण गाने वाला।
  • नक़ीब = घोषणा करने वाला, समाचार देने वाला, प्राचीन काल में राजा-महाराजा की सवारी के आगे-आगे चलनेवाला और उनके आगमन की उच्च स्वर में घोषणा करनेवाला चोबदार।
  • नादिम = लज्जित, शर्मिंदा, संकुचित, पछताने वाला, पश्चात्ताप करने वाला
  • नाज़िर = नज़र रखने वाला, देखने वाला, निगेहबान, दर्शक।
  • नादारी = ग़रीबी, तंगहाली, दरिद्रता, निर्धनता, मुफ़लिसी
  • नाशाद = अप्रसन्नता, दुःख, व्यथा, असंतुष्ट, अवसाद, हताशा, जो खुश न हो, बदनसीब, मनहूस, घुटन, मानसिक दबाव
  • ना-उम्मीदी = मायूसी, नाकामी, निराशा, हताशा, उम्मीद अथवा आशा का न होना, उत्साहहीनता, पस्तहिम्मती
  • ना-हक़ = अकारण, बेसबब, बिना बजह; व्यर्थ में; बेमतलब।
  • निस्बत = लगाव, संबंध, ताल्लुक
  • निस्बत से = संबंध से, की वजह से, के सबब से, कारण से, इस कारण से या वजह से, मात्रा, अनुपात से
  • निगहबान = रखवाला, अभिरक्षक, पहरेदार, मुहाफ़िज़, पासबान, रक्षक, संरक्षण देने वाला, निरीक्षक, निगरानी रखने वाला, देख-रेख करने वाला, हिफ़ाज़त करने वाला
  • नुमायाँ = ध्यान देने योग्य, प्रसिद्ध, नाम वाला, बड़ा, प्रधान, जो स्पष्ट दिखाई देता हो, ज़ाहिर, व्यक्त, प्रकट, उभरा हुआ, निकला हुआ, खुला
  • नूरानी = उज्जवल, प्रकाशमान
  • नूर = प्रकाश, ज्योति, आभा, रोशनी, शोभा, छटा, रौनक, चमक- दमक, मुखछटा, चेहरे की आबोताब, उजाला, हल्की रोशनी।

  • परस्तिश = पूजा, आराधना, इबादत
  • पनाह = शरण लेने का स्थान, शरण्य, आड़, आश्रय, बचने का ठिकाना, अमन की जगह
  • परवाने = प्रेमी
  • पंजर = मांस, त्वचा आदि से ढके हुए शरीर की हड्डियों का ढाँचा जिनके आधार पर शरीर ठहरा रहता है, शरीर, देह
  • पाक = पवित्र, निर्मल, सुथरा, बे लाग, बे गुनाह, नेक
  • पाकीज़गी = पवित्रता, शुद्धता, स्वच्छता, विशुद्धता, सफ़ाई, सुथराई, पाक होने की हालत
  • पुर-जलाल = शान-ओ-शौकत वाला।
  • पुर-दर्द = दुःखपूर्ण, ग़मनाक, दर्दनाक, दर्द भरा
  • पुर-ज़ोर = शक्तिशाली, बलवान, मज़बूत, ज़ोर वाला
  • पेशतर = किसी की तुलना में पूर्वकाल में, सब से पहले, पूर्वता, पूर्व, पहले, आगे
  • पैकर = देह, शरीर, जिस्म, आकृति, शक्ल, चेहरा, सूरत

फ 

  • फज़ल = अनुग्रह, कृपा, दया, अधिकता, ज़्यादती 
  • फ़राग़त = मुक्ति, छुटकारा, नजात, फ़ुर्सत, निवृत्ति, निश्चिंतता, बेफ़िक्री, चिंताओं से मुक्ति, सुख, सुकून, आराम, चैन, राहत
  • फ़रावानी = प्रचुरता, बहुलता, अधिकता, बहुतायत, अतिप्रवाह, अधिक
  • फ़ना = अस्तित्व की समाप्ति, मृत्यु, मौत, मरण, नष्ट, विनाश, बरबादी, लुप्त, गायब, मिटना, तल्लीन, डूबा हुआ
  • फ़ज़्ल = अनुग्रह, दया, कृपा
  • फ़क़त = केवल, मात्र, अकेला, सिर्फ़, बस
  • फ़र्श = पृथ्वीतल, समतल भूमि, हमवार ज़मीन, धरती, ज़मीन
  • फ़ख़्र = सम्मानित महसूस करना, गर्व, गौरव, नाज़
  • फ़रियाद = विशेषतः दूसरों द्वारा सताये जाने आदि पर प्रमुख अधिकारी या शासक के समक्ष न्याय पाने के लिए की जानेवाली प्रार्थना, विपत्ति, संकट आदि में पड़ने पर सहायतार्थ की जानेवाली पुकार, दोहाई, न्याय-याचना, दुख की आवाज़, विनती, गिड़गिड़ाहट
  • फ़रज़ंद = पुत्र, बेटा, पूत, आत्मज, लड़का, संतान
  • फ़ातेह = विजेता, जीतनेवाला
  • फ़िदया = दंड राशी, जुर्माना, जान का मुआवज़ा, लगान, ज़मीन का मालियाना, मालगुज़ारी, टैक्स, ज़मानत, मुचल्का
  • फ़ुर्क़त = दूरी, जुदाई, अलगाव, विरह
  • फ़ैसल = निर्णीत, निस्तारित, अंत, decided, settled, decree

ब 

  • बयाँ = जिक्र, चर्चा, विवरण, बात-चीत, वर्णन।
  • बरमला = खुले-आम, सबके सामने, खुल्लमखुल्ला, मुँह पर, मन-माने ढंग या रूप से, जी भरकर
  • बरक़रार = स्थिर, कायम, अचल, जीवित, ज़िंदा, जिसका अस्तित्व या स्थिति वर्तमान हो, सकुशल
  • बख़्श = क्षमा करना, भेंट, उपहार
  • बक़ा = अस्तित्व, जीवित रहना, नित्यता, निरंतरता, अनश्वरता, रक्षा, हिफ़ाज़त, सलामती
  • बर्रा = भेड़ बकरी का छोटा बच्चा
  • बशर = इंसान, आदमी, मनुष्य, मानव, व्यक्ति
  • बा-वफ़ा = विश्वासयोग्य
  • बा-असर = जिसका प्रभाव हो, असर वाला, प्रभावशाली, प्रभावी, असरदार
  • बा-कमाल = गुणवान, हुनरमंद, किसी काम या हुनर में बहुत बड़ी महारत रखनेवाला
  • बा’इस = कारण, हेतु, सबब, मूल कारण, निमित्त
  • ब-वास्ता = के कारण, के वजह से, के द्वारा
  • बाब-ए-रहीम = रहम का दरवाज़ा
  • बाला = ऊँचा, बुलंद, प्रधान, श्रेष्ठ
  • बातिल = झूठा, असत्य, झूठ, गलत, मिथ्या, अवैध, सत्य के विरुद्ध, बेकार, भ्रष्ट, अप्रभावी, बेअसर, बेनतीजा, निकम्मा, व्यर्थ, निरर्थक
  • बुग़्ज़ = वह बैर जो मन ही मन में बढ़ाया जाय, और प्रकट न किया जाय, द्वेष, बैर, छल, कपट, ईर्ष्या, दुश्मनी, जलन
  • बे-दिल = उदास, खिन्न, मनउचाट 
  • बे-‘ऐब = निर्दोष, निर्मल, जिसमें कोई खोट न हो।
  • बे-रंग = जिसका कोई रंग न हो, जिसका रंग उतर गया हो, बिना रंग का, जिसका रंग उतर गया हो, बदरंग, फीका, अवर्ण, वर्णहीन, बे-मज़ा, बेकैफ़, बेमौक़ा, बेमहल, बे-रौनक़, सपाट
  • बे-राह-रवी = बुरी राह चलना, कुमार्ग- गमन
  • बे-वजह = बिना किसी वजह या कारण के, निरुद्देश्य, निष्प्रयोजन, अकारण
  • बे-बाक़ = परिशुद्ध, ऋणमुक्त, पूरा भुगतान किया हुआ, पूरी अदायगी की हुई, अंत
  • बेशुमार = असंख्य, अनगिनत, जिनकी गिनती न हो सके, बहुत अधिक
  • बे-इंतिहा = असीम, अपार, बेहद
  • बे-क़यास = बेहिसाब, अत्यधिक, बेहद, समझ से परे
  • बे-मिसाल = अनुपम, अतुल्य, बेनज़ीर, लाजवाब
  • बे-क़रार = व्याकुल, आतुर, बेचैन, घबड़ाया हुआ, उद्विग्न।
  • बे-ग़रज़ = निःस्वार्थ, जिसका कोई स्वार्थ न हो

भ 

  • भाता = पसंदीदा, मर्ज़ी का, मन को भाने वाला, ख़ुशी, चाहा हुआ

म 

  • मकीं = मकान में रहनेवाला, निवासी, घर का मालिक।
  • मसह = अभिषेक
  • मक़ाम = मुकाम (स्थान), जगह, ठहरने का स्थान, पड़ाव, यात्रा के समय बीच में विश्राम करने के लिए ठहरना, ठिकाना
  • मरज़ = रोग, बीमारी, व्याधि, लत, व्यसन, बुरी आदत,
  • मख़ज़न = जमा करने का स्थान, माल गोदाम, भांडागार, गोदाम, भंडार
  • मरकज़ = केंद्र, वृत्त का केंद्र, बीच का स्थान, वृत्त या दायरे का मध्य बिंदु, मुख्य स्थान
  • मदहोश = नशे में धुत, बेसुध, मतवाला, निश्चेष्ट, गाफ़िल, उन्मत्त, आतंकित, भयभीत, हक्काबक्का, भोचक्का, हैरान, हतबुद्धि
  • मस्कन = निवासस्थान, घर, मकान, रहने का स्थान।
  • मद्दाह = प्रशंसक, तारीफ़ करने वाला, प्रशंसा या स्तुति करने वाला, ख़ुशामदी, स्तुतिकर्ता, स्तुति करने वाला
  • मसलूब = क्रूसित, सलीब पर चढ़ाया गया, जिसे सूली पर चढ़ाया गया हो
  • मसरूर (Masruur) = प्रसन्न, प्रफुल्ल, हर्षित, आनंदित, ख़ुश, उल्लसित, अति प्रसन्न, हर्ष और उल्लास में डूबा हुआ
  • मसर्रत (Masarrat )= ख़ुशी की स्थिति जो किसी बात से पैदा हो जाए, आनंद, ख़ुशी, हर्ष, उल्लास, प्रसन्नता
  • मसकीन = गरीब, दीन, बेचारा
  • मग़रूर = जिसे ग़ुरूर हो, ग़ुरूर वाला, घमंडी, अभिमानी, अहंकारी
  • मख़्लूक़ात = चराचर जगत और प्राणी वर्ग, वो सब चीजें जो संसार में हैं
  • मुदावा = इलाज, दवा दारु, तदबीर, चारा
  • मामूरी = आबाद होना, समृद्धि
  • मा’बूद = जिसको पूजा जाए, ईश्वर, खुदा।
  • मुश्किल-कुशा = कष्ट में मदद करने वाला, संकट-मोचन, कठिन समय में काम आने वाला, कठिन समय को आसान करेने वाला
  • मुंसलिक = शामिल, जुड़ा हुआ, सूत्रित, नत्थी किया हुआ, पिरोया हुआ, साथ में बाँधा या नत्थी किया हुआ, सम्मिलित
  • मुनजि = बचानेवाला; मुक्तिदाता
  • मुंजी/मुनज्जी = नजात दिलानेवाला।
  • मुनव्वर (munavvar) = प्रकाशित, रोशन, उज्ज्वल, कांति, वैभवशाली
  • मुज़ी’ = नष्ट करनेवाला, बरबाद करने वाला, विनाशक।
  • मुंतज़िर = प्रतीक्षक, प्रतीक्षार्थी, इंतज़ार या प्रतीक्षा करने वाला, राह देखने वाला, आस लगाने वाला
  • मुदाम = नित्य, सदा, हमेशा, निरन्तर, लगातार
  • मुख़्लिस = जिसमें कोई बनावट न हो, निश्छल, खरा, सच्चा
  • मिसाल = उदाहरण, दृष्टांत, चित्रण, नमूना, उपमा
  • मिसाली = अनुकरणीय, दृष्टांत योग्य, निदर्शनात्मक, शिक्षात्मक, मिसाल अर्थात् उदाहरण के रूप में होनेवाला या प्रस्तुत किया जानेवाला, आदर्श, नमूने के तौर पर, नमूने का
  • मिन्नत = विनती, प्रार्थना, ख़ुशामद, याचना, गिड़गिड़ाना
  • मेहरबानी = कृपा, करुणा, तरस, ममता, दया, ध्यान देना, ख़याल करना, अच्छा बर्ताव करना, मेहरबान द्वारा किया हुआ कोई उपकार या अनुग्रह
  • मेहनत-कश = बहुत मेहनत करने वाला, मज़दूर, मेहनती, परिश्रम करने वाला
  • मोहकम = दृढ़, मज़बूत, चिरस्थायी, टिकाऊ, निश्चित, अटल, यक़ीनी, निःसंदेह
  • मोहलिक = मार डालने वाला, घातक, प्राणघातक, जानलेवा, हानि पहुँचाने वाला, हानिकारक

र 

  • रहम = दया, करूणा, सहृदयता, शफ़क़त, अनुकंपा, अनुग्रह, तरस, मेहरबानी, सहानुभूति, हमदर्दी, किसी को दुखी या पीड़ित देखकर उसके कष्ट, दुख आदि दूर करने का व्यवहार
  • रहबर = मार्गदर्शक, पथप्रदर्शक, राह दिखाने वाला
  • रहीम = जो रहम करता या तरस खाता हो, हमदर्द, मेहरबान, दयालु, कृपालु, महादयालु
  • रंज-ओ-ग़म = कष्ट और दुःख, हर प्रकार के कष्ट
  • रब्ब-उल-अफ़्वाज = सेनाओं का यहोवा
  • रूहुल-क़ुदुस = पवित्र आत्मा
  • रूह-ए-क़ुदुस = पवित्र आत्मा
  • राहबर = रास्ता दिखाने वाला, मार्गदर्शक, पथप्रदर्शक, मार्ग दिखाने वाला, रास्ते पर लगाने वाला
  • रास्ती = सच्चाई, सदाक़त, सरलता, सीधापन, सत्यता, सच्चाई, सदाचार, नेककिरी
  • राहनुमा = पथ-प्रदर्शक, मार्ग-दर्शक, रास्ता बतानेवाला, अगुवा, नेतृत्व करने वाला
  • रिहाई = छुटकारा, मुक्ति, बंदीगृह से बाहर आना, बंधन मुक्ति, खलासी
  • रोज़-ए-महशर = प्रलय का दिन, क़यामत का दिन, पुनरुत्थान के दिन
  • रोज़-ए-हश्र = न्याय का दिन

  • लम्हा =पल, घड़ी, सेकंड, आँख झपकने की अवधि, एक मिनट, क्षण, बहुत थोड़ा समय, समय का अति सूक्ष्म मान
  • लंगर = किसी वस्तु को कहीं पर मजबूती से जमा देना, जहाज या नाव ठहराने अथवा रोकने के लिए लंगर गिराना, लोहे का एक प्रकार का बहुत बड़ा काँटा जिसका व्यवहार बड़ी-बड़ी नावों या जहाज़ों को नदी या समुद्र के किनारे एक ही स्थान पर ठहराने या टिकाए रखने के लिए होता है। (Anchor)
  • लबरेज़ = भरा हुआ, पुर, लबालब, ऊपर तक भरा हुआ, पूर्ण, छलकता हुआ, परिपूर्ण, मुहाँमुह, ओतप्रोत
  • लरज़ना = हिलना, कांपना, थर्राना, थरथराना, डरना
  • लताड़ना = धुत्कारना, आलोचना करना, डांटना फटकारना, लातों या पैरों से कुचलना, रौंदना, लातों से मारना, फटकारना, बेइज़्ज़त करना; शरमिंदा करना, कुचलना।
  • ला-ज़वाल = जिसका नाश न हो, अनश्वर, अविनाशी, शाश्वत, न ख़त्म होने वाला, जिसका अंत नहीं हो।
  • लाचारी = असमर्थतापूर्ण स्थिति, लाचार होने की अवस्था या भाव, विवशता, लाचारगी, मजबूरी, मुफ़लिसी, बेबसी, असमर्थता
  • लाहक = इच्छा करने या चाहनेवाला

  • वबा = महामारी, छूत की बीमारी, मौसम के साथ आने वाले रोग, ऐसा रोग या मुसीबत जो इंसानों की तबाही और विनाश का कारण हो
  • वुजूद = अस्तित्व, जीवन, हस्ती, वजूद, उत्पन्न, शरीर, बदन, पैदाइश 
  • वास्ते = कारण; हेतु; लिए।
  • वारिस = उत्तराधिकारी
  • वाहिद = अकेला, एक, ईश्वर का एक नाम

  • शह-ज़ोर = अत्यंत बलवान, बली, शक्तिशाली, ताकतवर, पहलवान
  • शय = वस्तु, पदार्थ, द्रव्य, चीज़
  • शकल-ए-इंसान = देहधारी, मनुष्य की सूरत में
  • शाहों का शाह = राजाओं का राजा
  • शफ़क़त = करूणा, अनुकंपा, दया, किसी से अपने बच्चों जैसा सुलूक करना, कृपा, मेहरबानी, सहानुभूति, हमदर्दी
  • शाफ़ी = आरोग्य देने वाला, स्वस्थ करने वाला, रोग मुक्त करने वाला, शिफ़ा देने- वाला, सँभालने वाला, ठीक करने वाला, सांत्वना देने वाला अर्थात परमेश्वर
  • शाह-ए-नूरानी = प्रकाश का बादशाह
  • शाद = प्रसन्न, ख़ुश, आनन्दित, प्रफुल्लित, हर्षत, सुखी, मसरूर, मौज में
  • शिफ़ा = रोगमुक्ति, सेहत, आरोग्य, रोग के बाद स्वास्थ्य, रोग से मुक्त करना, उपचार, इलाज, चिकित्सा, दवा-दारू, बीमारी की दवा
  • शुक्राना = आभार व्यक्त करना, शुक्रिया, कृतज्ञता
  • शोहरत =  प्रसिद्धि, ख्याति, व्यापक चर्चा

स 

  • सतून = खंभा, स्तंभ
  • सज़दा = ईश्वर के लिए सर झुकाना, नतमस्तक होना, श्रद्धा या भक्ति में माथे को जमीन पर रखना, माथा टेकना।
  • सना (Sanaa) = स्तुति, वंदना, हम्द, तारीफ़, सराहना, सताइश, ख़ुदा की तारीफ़, प्रशंसा (विशेष रूप से परमेश्वर के लिए )
  • सदा = याचना, फ़रियाद, माँगने की आवाज़, पुकार, आवाहन, रट, संगीत में कोई मधुर स्वर लहरी, हमेशा, नित्य, सदैव
  • सबब = कारण, वजह, स्रोत, हेतु, वजह, किसी प्रकार की क्रिया का द्वार या साधन
  • सवाली = याचक, माँगने वाला, भिक्षुक
  • सिपर = तलवार रोकने के अस्त्र, ढाल, कवच, आड़, रोक, पनाह गाह, सुरक्षित स्थान, सहायक
  • सीरत = चरित्र, आदत, कौशल, गुण, विशेषता, स्वभाव, प्रकृति, आदत, जीवन-चरित, अख़लाक़।
  • सूरत = रूप; आकृति; शक्ल
  • सुकड़ा = सकरा, जो कुशादा ना हो, तंग, सिमटा हुआ, भिंचा हुआ, एंठा हुआ, ठिटरा हुआ
  • सेर = तृप्त, जिसका पेट भरा हो, निःस्पृह, जिसे कोई कामना न हो, अघाया हुआ, भरा-पूरा, एक मान या तौल।
  • सैलाब = नदियों आदि की बाढ़, किसी चीज़ का काफ़ी मात्रा में होना
  • सय्याद = शिकारी, धोखे से फँसानेवाला
  • साया = छाया, परछाईं, प्रतिबिम्ब, अक्स, आश्रय, शरण, पनाह, हिमायत, प्रभाव, असर।
  • सादिर = जारी, नाफ़िज़, जारी किया हुआ (हुक्म आदि), आदरपूर्वक; आदर के साथ; इज़्ज़त से, आने वाला, पहुंचने वाला, होने वाला
  • साकिन = जो एक ही स्थान पर स्थिर रहता हो, अचल, निवासी, रहने वाला, ठहरा हुआ, स्थिर, बरक़रार

ह 

  • हर-सू = हर तरफ़, चारों ओर, चहुँओर, चारों तरफ़। 
  • हम्द = प्रभु की स्तुति, ईश्वर की वंदना, ईश्वर की महिमा-गान
  • हसीन = अच्छा, सुंदर, ख़ूबसूरत, नेक, चौंधानेवाला, रूपवान्, सुरूप, प्रियदर्शन, शोभन, खुशनुमा, प्यारा, लुभावना।
  • हसरत = अभिलाषा, लालसा, इच्छा, हार्दिक इच्छा, दिली ख़्वाहिश, चाह, अरमान, कामना
  • हशमत = ऐश्वर्य, वैभव, गौरव, महिमा, संसाधन की बहुतायत
  • हयात = जीवन, ज़िन्दगी
  • हबीब = प्रेमपात्र, प्यारा, प्रेमी, दोस्त, निकटतम मित्र
  • हक़-त’आला (haq-ta’aalaa) = ईश्वर, परमात्मा, परमेश्वर
  • हज़ीमत = पराजय, हार, पीछे हटना, शिकस्त, हारकर सेना का तितर-बितर हो जाना, भगदड़
  • हमदर्द = दुःख-दर्द का साथी, सहानुभूति रखने वाला, दूसरे के दुःख से द्रवित होने वाला
  • हाज़िर = उपस्थित, मौजूद, जो सामने हो, प्रस्तुत, विद्यमान
  • हादी = मार्गदर्शन करने वाला, रहनुमा, पेशवा, मार्ग-दर्शक, हिदायत करने अर्थात् उपदेश देनेवाला, पथप्रदर्शक, रास्ता दिखानेवाला, नेता, अगुवा।
  • हाफ़िज़ = रक्षक, प्रहरी, पहरेदार, बचाने वाला, हिफाजत अर्थात रक्षा करने वाला
  • हिक़मत = तत्त्व-ज्ञान, बुद्धिमानी।
  • हिल्म = भाव की कोमलता, नाज़ुकमिज़ाजी, गंभीरता, धीरता, शान्ति, मतानत, सहिष्णुता, सहनशीलता, नम्रता, नर्मी, तहम्मुल
  • हिरासाँ = जो साहस छोड़ या हिम्मत हार चका हो, पस्त, निराश, डरा हुआ, परेशान, भयभीत, हताश, नाउम्मीद।
  • हुज़ूरी = उपस्थिति, हाज़िरी, विद्यमानता, मौजूदगी, साक्षात, आमना-सामना, संमुखता, सामना, निकटता; नज़दीकी, ख़ुशामद।
  • हैबत = भय, त्रास, दहशत, आतंक, धाक, रोब
  • होसना = आराधना, स्तुति या आनंद की अभिव्यक्ति।

अर्थ समझ कर परमेश्वर के लिए गाना, परमेश्वर को महिमा देता है। हम भी उन लोगों में शामिल न हों जो कि प्रभु को अपनी जुबान से “हे प्रभु, हे प्रभु” तो कहते हैं पर ह्रदय से उसकी प्रभुता को स्वीकार नहीं करते हैं। प्रभु यीशु ने अपने अनुयाइयों को चिताया कि ऐसों का जीवन खतरे है। (लूका 6:46-49)

आप भी ह्रदय से प्रभु के लिए अर्थ समझकर गाएँ इसलिए आपकी मदद के लिए एक छोटा सा प्रयास है कि आप जिन गीतों को गाएँ उनको अर्थ समझकर गाएँ। यहाँ हमने सिर्फ उर्दू शब्दों के अर्थ संकलित किए हैं। ये बात सभी तरह की भाषाओं के लिए लागू होती है। 

इस सूची को नियमित तौर पर संशोधित किया जाएगा। हमें भी बहुत से उर्दू शब्दों के अर्थ मालूम नहीं हैं। यदि आप भी उर्दू शब्दों को अर्थ समेत जानते हैं तो आप भी अन्य विश्वासियों की मदद के लिए कमेंट में हमारे साथ साझा कर सकते हैं। 

धन्यवाद

spot_img

1 Comment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss