21.6 C
Shimla
Thursday, July 7, 2022

Popular

Mere Mehboob Pyare Masiha | Qawwali

Mere Mehboob Pyare Masiha

मेरे महबूब प्यारे मसीहा
किस जगह तेरा जलवा नहीं है
किस जगह तेरी शौहरत नहीं है
किस जगह तेरी चर्चा नहीं है
लोग पीते हैं और पी के गिर जाते हैं
मैं तो पीता हूँ गिरता नहीं हूँ -2
मैं तो पीता हूँ दर से मसीहा के -2
ये अँगूरों का सीरा नहीं है
मर गयी थी वह याईर की बेटी
तूने उस पर निगाह-ए-करम की
कर दिया जिन्दा उसको यह कहकर -2
ये तो सोती है, मुर्दा नहीं है
आँख वालों ने तुझको है देखा
कान वालों ने तुझको सुना है -2
तुझको पहचानते हैं वो इन्सां -2
जिनकी आँखों में पर्दा नहीं है
जिसमें शामिल न हो इश्क तेरा
वह परस्तिश - परस्तिश नहीं है
तेरे कदमों पर होता नहीं जो
कोई सिज़दा, वह सिज़दा नहीं है

Mere Mehboob Pyare Masiha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

यदि आप हमारे इस कार्य में आर्थिक रीति से सहयोग देना चाहते हैं तो आप हमसे [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं। या UPI द्वारा [email protected] पर अपनी योगदान राशि भेज सकते हैं।

Popular

Don't Miss