Ek Baar Nahi Yeshu Kai Baar Bachayega | Guddu James

Ek Baar Nahi Yeshu Kai Baar Bachayega

तुमने तराश कर मुझे -2 
हीरा बना दिया 
वर्ना मेरा शुमार उन्हीं 
पत्थरों में था 
जो वफ़ा करे सच्ची 
न वो इन्सान नज़र आता है 
खून भी अपना भी अब 
अनजान नज़र आता है 
किसको जाकर सुनाऊं 
ये कहानी अपनी 
मुझसे ज्यादा वो परेशान 
नज़र आता है 
मेरा क्या बिगाड़ लेगा 
ये मुखालफे ज़माना 
मेरा हमसफ़र खुदा है 
मुझे कोई डर नहीं है 
न वो इन्सान है 
कि बदल जाए 
न वो आदमी है कि 
उसका तौल जाए 
बचाया था, बचाया है 
बचाता ही रहेगा वो -2 
जो कल था साथ में मेरे 
आगे भी रहेगा वो 
एक बार नहीं यीशु 
कई बार बचाएगा -4
आई हुई मुसीबत से 
हर बार हटाएगा -4 
हमारे वास्ते उसने 
सलीबी मौत भी ले ली -4 
मिली सबको शिफा 
लेकिन लहू उसने बहा है 
एक बार नहीं यीशु 
कई बार बचाएगा -4
आई हुई मुसीबत से 
हर बार हटाएगा -4 
बलवंत जो टकराए 
रख देना दुआओं में -4
उसको फिर तेरे यीशु -2 
क़दमों में झुकाएगा -4 
ये माना कि दुश्मन है 
इस बार बड़ा भारी -4 
घबराना नहीं बन्दे -2 
जय अब भी दिलाएगा -4 
अब रूह के हवाले कर 
ये जान और जिस्म अपना -4 
तू ख्वाबों में भी कोई -2 
तुझको न डराएगा -4 
दे दे वही आग मुझे -4 
दे दे दे दे 
दे दे वही आग मुझे -4 
मेरे खुदा बाप मुझे 
दे दे वही आग -2 
दे दे वही आग मुझे -4 
अभी वक्त काफी था 
शाम ढली नहीं थी -2 
झाड़ी भी थी, लपटें भी थी
आग भी थी 
लेकिन झाड़ी जली नहीं थी 
दे दे वही आग मुझे -4 
जिसको पा के सारे चेले 
रूह में करे बात -4 
दे दे वही आग मुझे -4 
यरूशलेम की अटारी पे -2 
बैठे 120 लोग अपनी बारी पे 
आसमान आ गिरी 
दे दे वही आग मुझे -4 
दे दे वही आग मुझे -4 
दे दे वही आग मुझे -4 
मेरे खुदा बाप मुझे 
दे दे वही आग -2 
दे दे वही आग मुझे -4 

Ek Baar Nahi Yeshu Kai Baar Bachayega

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added