5.4 C
Shimla
Wednesday, February 28, 2024

Yug Shanti Ka Aarambh (Dayasagar)

Yug Shanti Ka Aarambh Lyrics (Dayasagar Lyrics)

युग शांति का आरम्भ 
युग प्रेम का प्रारम्भ 
प्रभु क्षमा में है सागर 
यीशु दयासागर -2 
दयासागर, दयासागर, दयासागर
दयासागर, दयासागर, दयासागर  -2 
जब ज्योति कहीं जलती है 
तब कान्ति खिलती है -2 
जहाँ क्षमा, प्रेम होता है 
वहीं शांति मिलती है
आरम्भ के आगाज़ में 
नवयुग का है आदर  
युग शांति का आरम्भ...
बूंदें दयासागर की 
सबको जीवन देती हैं -2 
सब इन्सान के पापों को 
एक पल में धो देती है 
ये बूंदें बनकर अमृत 
भरती है मन की गागर 
युग शांति का आरम्भ...
Yug Shanti Ka Aarambh
Yug Prem Ka Prarambh
Prabhu Kshama Me Hai Sagar
Yeshu Dayasagar -2 
Dayasagar, Dayasagar, Dayasagar
Dayasagar, Dayasagar, Dayasagar -2 
Jab Jyoti Kahin Jalti Hai 
Tab Kaanti Khilti Hai -2
Jahan Kshama Prem Hota Hai 
Vahin Shanti Milti Hai 
Aarambh Ke Aagaaz Me 
Navyug Ka Hai Aadar 
Yug Shanti Ka Aarambh...
Bunden DayaSagar Ki 
Sabko Jeevan Deti Hain -2
Sab Insaan Ke Paapon Ko
Ek Pal Me Dho Deti Hai 
Ye Bunden Ban Kar Amrit
Bharti Hai Man Ki Gaagar
Yug Shanti Ka Aarambh...

Yug Shanti Ka Aarambh (Dayasagar)

Singer : Deepak Dolare

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

lyricsa (hindi christian song lyrics)

क्या लिरिक्सा आपके लिए एक उपयोगी संसाधन है?

हम आपको बेहतर सेवाएँ देने के लिए प्रयासरत हैं, कृपया YouTube पर भी हमारा समर्थन करें...

Don't Miss