11.6 C
Shimla
Friday, April 19, 2024

Mere Gunah Ki Li Tune Saza | Vijay Benedict

Mere Gunah Ki Li Tune Saza Lyrics

मेरे गुनाह की ली तूने सजा
चाबुक की मार से
कुछ न दिया मैंने, कुछ न दिया
बदले में प्यार के -2
ये क्या किया तूने, क्यों ये किया
जाँ देके तूने, ये जीवन दिया -2 
दर्द था मेरा जो तूने सहा
चढ़ के सलीब पे
कर्ज़ा किया मेरा तूने अदा
काँटो और कीलों से -2 
फिर भी न कम हुआ, प्रेम तेरा
जाँ देके तूने, ये जीवन दिया -2 
मरते हुए माफ़ करके गया
ज़ुल्म और सितम मेरे
मेरे लिए तूने खाई सदा
दुनियां की ठोकरें -2 
ये क्या किया तूने, क्यों ये किया
जाँ देके तूने, ये जीवन दिया -2
Mere Gunah Ki Li Tune Saza
Chaabuk Ki Maar Se
Kuch Na Diya Maine
Kuch Na Diya 
Badle Me Pyar Ke -2 
Ye Kya Kiya Tune, Kyon Ye Kiya 
Jaan Deke Tune, Ye Jiwan Diya -2 
Dard Tha Mera Jo Tune Saha
Chadh Ke Saleeb Pe 
Karza Kiya Mera Tune Ada 
Kaanton Aur Keelon Se -2 
Fir Bhi Na Kam Hua, Prem Tera 
Jaan Deke Tune, Ye Jiwan Diya -2 
Marte Huye Maaf Karke Gaya
Julm Aur Sitam Mere 
Mere Liye Tune Khaayi Sada 
Duniyan Ki Thokren -2 
Ye Kya Kiya Tune, Kyon Ye Kiya 
Jaan Deke Tune, Ye Jiwan Diya -2 

Mere Gunah Ki Li Tune Saza | Vijay Benedict

More From Vijay Benedict:

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Low of Leadership

The 21 Irrefutable Laws of Leadership

Follow Them and People Will Follow You (25th Anniversary Edition)

Don't Miss