Main Hun Deepak Ek Chhota Jal Raha

Main Hun Deepak Ek Chhota Jal Raha

मैं हूँ दीपक एक छोटा जल रहा
आँधियों के साये में हूँ पल रहा
मेरे दीपक का उजाला है मसीह
जिसकी छाया में पले हैं हम सभी
इस उजाले से गुनाह सब जल रहा
मेरे जीवन की कभी न रात है
कि ख़ुदा का नूर मेरे साथ है
मैं हूँ उसका हाथ लेकर चल रहा
उठ, मुसाफ़िर, अपना दीपक ले जला
तेरे जीवन का है अब दिन भी ढला
सोच ना, उठ हाथ क्यों है मल रहा

Main Hun Deepak Ek Chhota Jal Raha

Singer – Jagmohan

Lyrics – Rev. Ahsan Masih

Music – Vasant Timothy

Recorded at – CARAVS Studio, Jabalpur, M.P. India.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recently Added